दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पिच रिपोर्ट। Dubai international Stadium pitch report in Hindi

Dubai international Stadium pitch report in hindi:- दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में बहुत सारे इंटरनेशनल मैच और घरेलू T20 मैच चलते रहते हैं। यहां फिलहाल अभी इंटरनेशनल T20 लीग चल रहा है। लोग फेंटेसी टीम बनाते हैं जिसमें लोग इस स्टेडियम की पिच रिपोर्ट जानना चाहते है, क्योंकि इससे टीम बनाने में आसानी हो जाती है जिससे पता चल जाता है कि पिच बोलिंग फ्रेंडली है या बैटिंग फ्रेंडली और आंकड़ों के बारे में पता लगता है, उसी अनुसार लोग टीम बना पाते हैं। इस आर्टिकल में विस्तार से दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम के पिच रिपोर्ट और आंकड़ों के बारे में बात करेंगे।

Dubai International Stadium। दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम की जानकारी

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम यूएई के दुबई में स्थित है। इस स्टेडियम की स्थापना 2009 में हुई थी। यहां कुल दर्शकों की बैठने की क्षमता करीब 25000 लोगों की है।

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम के T20I आंकड़े

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में कुल 89 इंटरनेशनल T20 मैच खेले गए हैं जिसमें पहले बैटिंग करने वाली टीम ने 43 और दूसरी पारी में बैटिंग करने वाली टीम ने 46 बार जीत हासिल की है। यहां का पहला इनिंग का औसत स्कोर 146 का रहता है और यहां पर सबसे बड़ा स्कोर भारत ने 2 विकेट खोकर 212 रन अफगानिस्तान के खिलाफ 2022 में बनाया था। यहां पर सबसे छोटा स्कोर वेस्ट इंडीज ने इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था जो की 55 का रहा है।

यहां हाल ही में 1 फरवरी 2024 को डेजर्ट वाइपर्स बनाम दुबई कैपिटल के बीच मैच हुआ था। डेजर्ट वाइपर्स ने 6 विकेट खोकर 169 रन बनाए थे वहीं दुबई कैपिटल ने आखिरी बॉल पर यह मैच जीत लिया।

इस स्टेडियम में सबसे बड़ा स्कोर विराट कोहली का रहा है उन्होंने इस स्टेडियम में 122 रन की नाबाद पारी खेली थी।

मैच89
पहले बैटिंग का औसत स्कोर146
उच्च स्कोर212/2 भारत बनाम अफगानिस्तान
सबसे छोटा स्कोर 55/10 वेस्ट इंडीज बनाम इंग्लैंड
सबसे बड़ा चेस स्कोर184/8 श्रीलंका बनाम बांग्लादेश
पहले बैटिंग करते हुए जीते मैच43
पहले बॉलिंग करते हुए जीते मैच46

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पिच रिपोर्ट। Dubai international Stadium pitch report in hindi

दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम एक बैलेंस पिच माना जाता है। यहां बल्लेबाज और गेंदबाजों को समांतर मदद मिलती है। नई गेंद से तेज गेंदबाजों को मदद मिलती है वहीं जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ता जाता है बल्लेबाजी के लिए विकेट आसान होता जाता है। वही यहां पर स्पिन गेंदबाजों को भी अच्छा खासा मदद मिलता है। यहां की सतह ठोस होने के कारण स्पिन गेंदबाजों को घुमाओ भी देखने को मिलता है

वहां टॉस जीतकर गेंदबाजी करना अच्छा रहता है और दूसरी पारी में बैटिंग करने वाली टीम ज्यादा बार जीती है इसका सबसे बड़ा कारण और ओस का भी हो जाता है, क्योंकि दूसरी पारी में ओस के कारण गेंदबाजों को बॉल पर ग्रिप करने में कठिन हो जाता है और गेंद हाथ से फिसलने लगती है जिसके कारण स्पिन करना और तेज गेंदबाजी करना भी कठिन हो जाता है।

ये भी पढ़ें…

108MP कैमरा, 12GB रैम और 512GB स्टोरेज के साथ लॉन्च हुआ Honor X9B 5G फोन

न्यूलैंड्स क्रिक्रेट ग्राउंड, केपटाउन पिच रिपोर्ट और आंकड़े

x

Leave a comment